इस मंदिर को बनाने में लगभग ग्यारह बर्षों का समय लगा.! प्रेम मंदिर का शिलान्यास वर्ष 2000 मे हुआ था! कृपालु जी महाराज ने 14 फ़रवरी 2001 मे मंदिर की पहली ईंट रखी थी! फ़रवरी 2012 मे इसका कार्य पूर्ण हुआ!

वृन्दावन मे 54 एकङ में बना यह मंदिर 122 फिट लंबा और 125 फिट ऊँचा और 115 फिट चौड़ा है इस मंदिर के बगीचे की हरियाली, श्री कृष्णजी की मनमोहक झांकियां, कालियानाग दमन लीला, श्री गोवर्धन धारण लीला, झूलन लीलाएं दिखाई देती है, जो भक्तों को आनंद प्रदान देती है!

यह मंदिर सफ़ेद पत्थरों से बना हुआ है! इस मंदिर को बनाने के लिए इटेलियन संगमरमर का उपयोग किया गया है! मंदिर की दीवारों पर सफेद संगमरमर से चमचमाती हुई बारीक नक्काशी इसकी भव्य सुंदरता को अधिक बड़ा देती है!